Breaking News
Home / top / मोदी ने सेना के पराक्रम पर वोट मांगे, इंदिरा ने ऐसा कभी नहीं किया : शरद पवार

मोदी ने सेना के पराक्रम पर वोट मांगे, इंदिरा ने ऐसा कभी नहीं किया : शरद पवार

अकोलाः राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) प्रमुख शरद पवार ने बुधवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर हमला बोलते हुए उन पर ‘सेना के पराक्रम’ के नाम पर वोट मांगने का आरोप लगाया। पवार ने मोदी को यह भी याद दिलाने की कोशिश की कि दुनिया का नक्शा बदलने वाली पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी ने पाकिस्तान के खिलाफ युद्ध जीतने का श्रेय सुरक्षा बलों को दिया था।

पूर्वी महाराष्ट्र के बालापुर शहर में एक चुनावी रैली को संबोधित कर रहे पूर्व केंद्रीय मंत्री ने केंद्र और राज्य की भाजपा नीत सरकारों पर किसानों की हालत को लेकर चिंतित नहीं होने का भी आरोप लगाया। पवार ने किसानों से अपील की कि 21 अक्टूबर को होने वाले विधानसभा चुनाव में वे सत्तारूढ़ पार्टी को पराजित करें।

महाराष्ट्र की राजनीति के दिग्गत नेता ने कहा कि राज्य में लोग सत्ता में बदलाव का मन बना रहे हैं। पवार ने फरवरी में जम्मू कश्मीर के पुलवामा में सीआरपीएफ के काफिले पर हुए हमले के संदर्भ में सभा में कहा, ‘‘ देश के प्रधानमंत्री ने (इस साल शुरू में हुए) लोकसभा चुनाव में राष्ट्रीय सुरक्षा के मुद्दे पर प्रचार किया।’’

पुलवामा में हुए आतंकी हमले में 40 सीआरपीएफ जवान शहीद हो गए थे। इसके बाद वायु सेना ने पाकिस्तान के बालाकोट में हवाई हमले किए थे। घटनाक्रम के संदर्भ में पवार ने कहा कि वायुसेना ने पुलवामा हमले के षड्यंत्रकारियों को ‘मुंह तोड़ जवाब’ दिया लेकिन प्रधानमंत्री मोदी ने सुरक्षा बलों के पराक्रम के नाम पर वोट मांगे।

पूर्व रक्षा मंत्री ने कहा, ‘‘मुझे याद है भारत और पाकिस्तान के बीच (1971 में) युद्ध हुआ था। तब इंदिरा गांधी प्रधानमंत्री थीं। गांधी ने न सिर्फ (भारत के लिए) युद्ध जीता और इतिहास रचा, बल्कि दुनिया का भूगोल भी बदल डाला।’’ उन्होंने कहा, ‘‘तब पाकिस्तान को दो हिस्सों में बांट दिया गया और इसके बाद बांग्लादेश के नाम से एक नया देश बना, लेकिन गांधी ने कभी भी सेना के पराक्रम के नाम पर वोट नहीं मांगे।’’

पवार पहले कांग्रेस में थे। उन्होंने कहा कि गांधी के सामने यह बात स्पष्ट थी कि जंग के दौरान पूरा देश सेना के साथ खड़ा था और इसलिए उन्होंने मुद्दे का कभी भी राजनीतिकरण नहीं किया लेकिन श्रेय सुरक्षा बलों को दिया। महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा, ‘‘वायु सेना की कार्रवाई ने पुलवामा हमले के बाद देश की मदद की, लेकिन (हवाई हमले के बाद) मोदी साहब जहां भी गए उन्होंने कहा, ‘ हमने यह किया है।’ एक स्थान पर तो उन्होंने यहां तक कहा कि, ‘घुस के मारूंगा।’’’

पवार ने कहा, ‘‘ यह सेना या वायुसेना थी जिसने कार्रवाई की थी और ये लोग दिल्ली में बैठकर कहेंगे कि ‘घुस के मारूंगा।’’’ राकांपा नेता ने आरोप लगाया कि भाजपा सरकार में आम लोगों की परेशानी बढ़ गई है। उन्होंने कहा कि चुनाव देवेंद्र फडणवीस सरकार के प्रदर्शन का जायजा लेने का मौका है।

पवार ने कहा कि बीते पांच साल में राज्य में कृषि संकट गहरा गया है। उन्होंने आरोप लगाया कि सरकार की कर्ज माफी योजना का लाभ सिर्फ 31 फीसदी किसानों को मिला है। इस साल हुए लोकसभा चुनाव में मोदी ने पहली बार मत देने वाले लोगों से अपना वोट बालाकोट हवाई हमला करने वालों को सर्मिपत करने को कहा था।

About admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *