Breaking News
Home / top / एसबीआई रिपोर्ट का खुलासा- सितंबर तिमाही में 5% से भी कम हो सकती है जीडीपी ग्रोथ

एसबीआई रिपोर्ट का खुलासा- सितंबर तिमाही में 5% से भी कम हो सकती है जीडीपी ग्रोथ

भारतीय अर्थव्यवस्था सुस्ती के दौर से गुजर रही है। मोदी सरकार के लाख दावों के बाद भी सुधार की गुंजाइश नहीं दिख रही। भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) की एक रिपोर्ट में यह चेतावनी दी गई है। रिपोर्ट में कहा गया है कि जुलाई से सितंबर की तिमाही में जीडीपी ग्रोथ 5 फीसदी से कम हो सकती है। पूरे वित्त वर्ष के दौरान जीडीपी बढ़त दर घटकर 6 फीसदी से नीचे आ सकती है।

इसके पहले भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) ने कहा था कि इस वित्त वर्ष में जीडीपी ग्रोथ 6.1 फीसदी हो सकती है। गौरतलब है कि अप्रैल से जून की तिमाही में भारत की जीडीपी में बढ़त 5.8 फीसदी हुई थी।

एसबीआई इकोरैप रिपोर्ट में कहा गया है, ‘वित्त वर्ष 20 की दूसरी तिमाही (जुलाई से सितंबर) में ग्रोथ ने रफ्तार पकड़ने के बारे में हमें अब कम उम्मीद है। सितंबर में कुल 26 संकेतकों में से सिर्फ 5 संकेतकों में बढ़त देखी जा रही है। इससे यह संकेत मिलता है कि अभी भी इकोनॉमी में मांग में महत्वपूर्ण कमी बनी हुई है और इसे सुधरने में समय लग सकता है। प्रमुख संकेतकों को देखने से अब ऐसा लग रहा है कि दूसरी तिमाही में जीडीपी ग्रोथ 5 फीसदी से कम होगी।’

हालांकि रिपोर्ट में यह कहा गया है कि इस साल की दूसरी छमाही में जीडीपी ग्रोथ की रफ्तार बढ़ सकती है। इसमें कहा गया है कि सरकारी खर्च बढ़ने और कंपनियों की बिक्री बढ़ने की वजह से तीसरी तिमाही से जीडीपी ग्रोथ में थोड़ा सुधार हो सकता है।

बता दें कि पहले भी कई इकोनॉमिस्ट और सर्वे ने यह अनुमान जारी किया है कि सितंबर तिमाही की जीडीपी में काफी गिरावट आएगी। मूडीज इनवेस्टर्स सर्विस ने पूरे वित्त वर्ष के लिए जीडीपी बढ़त के अपने अनुमान को 6.2 फीसदी से घटाकर 5.8 फीसदी कर दिया है।

अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) ने भी साल 2019 के लिए जीडीपी ग्रोथ के अनुमान को घटाकर 6.1 फीसदी कर दिया है। रिजर्व बैंक ने इस वित्त वर्ष में जीडीपी ग्रोथ के अनुमान को 6.9 से घटाकर 6.1 फीसदी कर दिया है।

About admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *