Breaking News
Home / top / ‘न्यूट्रिशन मैन’ बसंत कुमार कर ग्लोबल न्यूट्रिशन लीडरशिप अवॉर्ड से सम्मानित

‘न्यूट्रिशन मैन’ बसंत कुमार कर ग्लोबल न्यूट्रिशन लीडरशिप अवॉर्ड से सम्मानित

‘न्यूट्रीशन मैन’ के नाम से मशहूर ग्लोबल ट्रांसफॉर्मेशन न्यूट्रिशन चैंपियन बसंत कुमार कर को दुनिया के सबसे प्रतिष्ठित 2019 ग्लोबल न्यूट्रिशन लीडरशिप अवॉर्ड से सम्मानित किया गया है। यह सम्मान उन्हें नेपाल के काठमाडू में संयुक्त राष्ट्र की अगुआई वाले स्केलिंग अप न्यूट्रिशन ग्लोबल गैदरिंग (एसयूएनजीजी) में दिया गया। बसंत यह प्रतिष्ठित सम्मान पाने वाले दुनिया के सातवें व्यक्ति हैं। सन ग्लोबल गैदरिंग सन मूवमेंट के प्रमुख कार्यक्रमों में एक है, जिसमें दुनिया भर के 1000 से अधिक प्रतिभागियों ने भाग लिया। इन प्रतिभागियों में सन मूवमेंट के 61 सदस्य देशों के प्रतिनिधिमंडल, देशों के मुखिया और प्रमुख सरकारी प्रतिनिधि शामिल थे।

बसंत को यह सम्मान विशेष रूप से गरीब आबादी के लिए एक स्वस्थ, बेहतर दुनिया के लिए दृष्टि को साकार करने में उनके उत्कृष्ट योगदान और नेतृत्व की भूमिका के लिए दिया गया है। उन्होंने दुनिया के लिए उम्मीदों के अग्रदूत बनते हुए स्वस्थ किशोरों, महिलाओं और बच्चों के लिए मुहिम चलाई। बसंत ने अपने भाषण में ओडिशा में अपने पैतृक गांव से शुरू होने वाली दुर्दशा और चुनौतियों को याद किया, जहां उन्होंने कुपोषण खत्म करने और अधिक शांतिपूर्ण, समृद्ध और न्यायपूर्ण दुनिया के लिए मानव क्षमता विकसित करने की जंग की शुरुआत की।

उनके लिए अच्छा पोषण एक अच्छे जीवन का पासपोर्ट है, इसलिए कुपोषण के खिलाफ लड़ाई को तत्काल और अधिक केंद्रित करने की जरूरत है। बसंत कर ने कहा, “एक अच्छे जीवन को तभी महसूस किया जा सकता है, जब सम्मानपूर्ण जीवन के साथ सुरक्षित और पौष्टिक भोजन का अधिकार मिले। कुपोषण और सूक्ष्म पोषक तत्वों की कमी को दूर करना उतना ही जरूरी और महत्वपूर्ण है, जितना कि गुलामी जैसी बुराइयों को मिटाना था।

उन्होंने इस बात पर भी प्रकाश डाला कि समग्र पोषण के लिए प्रधानमंत्री की योजना पोषण अभियान कैसे एक सामूहिक आंदोलन बन रहा है। लोग कुपोषण को दूर करने के प्रति जागरूक हो रहे हैं। बसंत कर ने अपने इस सम्मान को पोषण के लिए धरातल पर काम करने वाले उन सच्चे पोषण योद्धाओं को समर्पित किया, जो बिना किसी मान्यता या स्वीकृति के चुपचाप कुपोषण के खिलाफ युद्ध लड़ रहे हैं। दूरदर्शी और अपार ऊर्जा से लैस बसंत समावेशी दृष्टिकोण अपनाते हुए सामुदायिक क्षेत्र में कुपोषण की चुनौती को उठाया है।

यह सम्मान उन्हें वैश्विक पोषण मिशन के उद्देश्यों को हासिल करने के लिए प्रेरित करेगा और गरीबों तथा वंचितों के जीवन को बदलने के लिए खुद को समर्पित करने वाले कई नायाब नायकों के लिए एक प्रेरणा के रूप में भी काम करेगा। बता दें कि ग्लोबल न्यूट्रिशन लीडरशिप अवॉर्ड की स्थापना 2012 में स्विट्जरलैंड की ह्यूमेनिटेरियन न्यूट्रिशन थिंक टैंक साइट एंड लाइफ द्वारा की गई थी, जो दुनिया की सबसे गरीब आबादी वाले इलाके में कुपोषण के सभी रूपों को खत्म करने के लिए समाधान देने का काम करता है।

About admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *