Breaking News
Home / top / RBI ने जीडीपी का अनुमान घटाकर 5% किया, रेपो रेट में कोई बदलाव नहीं

RBI ने जीडीपी का अनुमान घटाकर 5% किया, रेपो रेट में कोई बदलाव नहीं

RBI monetary policy : भारतीय रिजर्व बैंक ने अपनी बैठक में नीतिगत दरों में कोई बदलाव नहीं करने का फैसला किया है. पहले यह उम्मीद की जा रही था कि आरबीआई GDP गिरने की वजह से रेट कट कर सकता है. आरबीआई ने रीपो रेट 5.15 प्रतिशत पर बरकरार रखा है, जबकि बैंक रेट 5.40 प्रतिशत और रिवर्स रीपो रेट 4.90 प्रतिशत पर है.

आरबीआई ने फिस्कल ईयर 2019-20 में GDP ग्रोथ रेट का अनुमान 6.1 फीसदी से घटाकर 5 फीसदी कर दिया. आरबीआई ने कमजोर घरेलू मांग और वैश्विक आर्थिक गतिविधियों में गिरावट को इसका कारण बताया है. इससे पहले अक्टूबर में RBI ने GDP ग्रोथ का 6.1 फीसदी का अनुमान लगाया था.

आरबीआई ने कहा” एमपीसी (मौद्रिक नीति समिति) ने आक्रामक रुख को जारी रखने का फैसला किया ताकि विकास को पुनर्जीवित किया जा सके. साथ ही यह भी सुनिश्चित हो कि मुद्रास्फीति लक्ष्य के भीतर बनी रहे.  आरबीआई ने यह घोषणा ऐसे समय में की है, जब भारत की अर्थव्यवस्था लड़खड़ा रही है. पिछले हफ्ते जारी किए गए आंकड़ों से पता चला है कि सकल घरेलू उत्पाद की वृद्धि अक्टूबर में छह साल के निचले स्तर पर पहुंच गई, यहां तक कि औद्योगिक उत्पादन गिर गया है.

पिछले कुछ महीनों में ऑटोमोबाइल और विनिर्माण जैसे प्रमुख क्षेत्रों में उपभोक्ता मांग कमजोर होने और निवेश में कमी के कारण मंदी देखी गई है. हालांकि आरबीआई ने ब्याज दरों में कोई बदलाव नहीं किया है. रेपो दर, बैंक ने कहा ब्याज दर, जिस पर वह वाणिज्यिक बैंकों को उधार देता है, 5.15 फीसदी रहेगी. इस साल आरबीआई ने रेपो दर में 135 आधार अंकों की कटौती की है जो अब तक नौ साल के निचले स्तर 5.15% है. विश्लेषक दर में कटौती की उम्मीद कर रहे थे.

About admin