Breaking News
Home / top / एनकाउंटर पर बोली तेलंगाना पुलिस- सरेंडर को तैयार नहीं थे आरोपी, चेतावनी के बाद चलाई गोली

एनकाउंटर पर बोली तेलंगाना पुलिस- सरेंडर को तैयार नहीं थे आरोपी, चेतावनी के बाद चलाई गोली

हैदराबाद। पूरे देश को दिल दहला देने वाला हैदराबाद गैंगरेप के चारों आरोपियों को शुक्रवार अल सुबह तेलंगाना पुलिस ने शादनगर के पास मुठभेड़ में मार गिराया है। आरोपी शुक्रवार अल सुबह तब मारे गए, जब उन्होंने हैदराबाद से करीब 50 किलोमीटर दूर शादनगर के पास चटनपल्ली से भागने की कोशिश की। उन्हें उसी स्थान पर गोलियों से भून दिया गया, जहां आरोपियों 27 नवंबर की रात को पीड़िता के साथ हैदराबाद के बाहरी इलाके शमशाबाद के पास सामूहिक दुष्कर्म करने और उसकी हत्या के बाद उसके शव को जलाकर फेंक दिया था। जांच के हिस्से के रूप में क्राइम सीन रिक्रिएट करने के लिए आरोपियों को मौके पर ले जाया गया था, जहां आरोपियों ने भागने की कोशिश की जिसके बाद पुलिस ने उन्हें मार गिराया।

महिला वेटनरी के साथ हुई दर्दनाक घटना के बाद देशभर में गुस्से की लहर देखने को मिली थी और अपराधियों को तत्काल मौत की सजा देने की मांग की गई थी।

LIVE अपडेट…

– साइबराबाद पुलिस के कमिश्नर वी. सज्जनार ने कहा कि 27-28 नवंबर की रात युवती के साथ दुष्कर्म हुआ और बाद में जिंदा जला दिया गया। हमने आरोपियों के खिलाफ सबूत इकट्ठे किए और बाद में उन्हें गिरफ्तार किया। हमें दस दिन के लिए पुलिस कस्टडी मिली। साइबराबाद पुलिस के कमिश्नर वी. सज्जनार ने कहा कि आज हम उन्हें आगे के सबूत इकट्ठा करने के लिए लेकर आए थे, लेकिन उन्होंने पुलिस पार्टी पर हमला बोल दिया। हमारे दो हथियार छीन लिए। इसके बाद पुलिस को आरोपियों पर फायरिंग करनी पड़ी। चारों आरोपियों की मौत गोली लगने के कारण से ही हुई है, इस दौरान एक SI और कॉन्स्टेबल घायल भी हुए हैं। हमने आरोपियों का डीएनए टेस्ट भी किया है, ये सभी लोग कर्नाटक-तेलंगाना में कई मामलों के आरोपी थे। साइबराबाद पुलिस के कमिश्नर ने कहा कि शुक्रवार सुबह 5.45 से 6.15 के बीच में एनकाउंटर हुआ, इन आरोपियों का नाम कई अन्य केस से भी जुड़ा है, इसकी जांच चल रही है।

पुलिस कमिश्नर वीसी सज्जनर ने आगे बताया कि पुलिस ने आरोपियों को चेताया था और सरेंडर करने को कहा था लेकिन उन्होंने फायरिंग करना प्रारंभ कर दिया। यही कारण रहा कि हमने खुली फायरिंग की और इसी दौरान आरोपी मारे गए। कमिश्नर ने कहा कि जो दो पुलिसवाले घायल हुए हैं उन्हें अस्पताल में भर्ती किया गया है।

-भाजपा सांसद लॉकेट चटर्जी ने इस एनकाउंटर को कानून मान्यता देने की बात कह दी है। साथ ही कहा है कि मालदा में हुए रेप की भी जांच होनी चाहिए।

– हैदराबाद गैँगेरेप के आरोपियों के शव थोड़ी देर में पोस्टमॉर्टम के लिए ले जाए जाएंगे ।

वाईएसआर कांग्रेस पार्टी के नेता कानुमुरु रघु राम कृष्ण राजू ने हैदाराबाद एनकाउंटर का स्वागत करते हुए कहा कि वे गोली मारकर हत्या करने के योग्य थे। भगवान दयालु हैं कि उन्हें गोली मार दी गई, यह एक अच्छा सबक है। उन्होंने भागने की कोशिश की और वे मारे गए। किसी भी एनजीओ को इसका विरोध नहीं करना चाहिए और यदि वे ऐसा करते हैं, तो वे राष्ट्र-विरोधी हैं।

– याेग गुरु रामदेव ने कहा कि हैदराबाद पुलिस ने जो किया है उससे पूरे देश में खुशी का माहौल है। यह सचमुच में न्याय हुआ है।

– पूर्व केन्द्रीय मंत्री मेनका गांधी ने पुलिस मुठभेड़ में मारने को लेकर सवाल खड़ा कर दिया है। उन्होंने कहा कि यह गलत है।एनकाउंटर इसका सॉल्यूशन नहीं है, आरोपियों को एक न्यायिक प्रक्रिया के तहत सजा मिलनी चाहिए। ये आरोपी तो थाने या जेल में होंगे, कहां भाग कर जा रहे थे।

फिल्मी अभिनेता अनुपम खेर ने कहा है कि हैदराबाद पुलिस की जय हो। हैदराबाद में मुठभेड़ स्थल पर लोगों ने पुलिस के साथ जश्न मनाया है।

-हैदराबाद पुलिस की गाड़ियों पर लोगों ने बरसाए फूल। एनकाउंटर की बात को सराहाते हुए जनता में खुशी की लहर । कुछ लोगों ने दुख जताते हुए कहा कि इस प्रकार का न्याय ठीक नहीं है।

-एनकाउंटर के स्थान पर भारी भीड़ जमा हो गई है। वहां पर जमा भीड़ पुलिस के समर्थन में नारे लगा रही है।

-हैदराबाद की महिला वेटनरी के पिता ने भी इस एनकाउंटर पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि आज उनकी बेटी की आत्मा को शांति मिलेगी। वहीं उनकी बहन ने भी कहा कि आज इंसाफ हुआ है। चाचा ने कहा कि उन लोगों को मार गिराया गया है तो हमें खुशी नहीं है, क्योंकि उनके भी मां-बाप हैं। आरोपियों ने भागने की कोशिश की होगी, इसलिए पुलिस ने एनकाउंटर किया होगा। पुलिस चाहती तो पहले दिन ही आरोपियों को मार गिराती, अब आरोपियों को सजा मिल गई है। अगर सजा जल्दी-जल्दी मिलने लगे तो दरिंदगों के मन में डर बैठेगा।

-डीसीपी शमशाबाद प्रकाश रेड्डी ने बताया कि साइबराबाद पुलिस आरोपियों को घटना को रिक्रिएट के लिए के घटना स्थल ले गई थी। इसी दौरान आरोपियों ने पुलिस से हथियार छीन लिए और पुलिस पर फायरिंग की। आत्मरक्षा में पुलिस ने जवाबी फायरिंग की, जिसमें आरोपी मारे गए।

About admin