Breaking News
Home / top / दिल्ली चुनाव में स्मृति ईरानी बनेंगी भाजपा का प्रमुख चेहरा, ज्यादा रैलियां कराने पर जोर

दिल्ली चुनाव में स्मृति ईरानी बनेंगी भाजपा का प्रमुख चेहरा, ज्यादा रैलियां कराने पर जोर

दिल्ली चुनाव की सरगर्मियां माहौल में महसूस होने लगी हैं। चुनाव में एक महीने से भी कम का समय है। ऐसे में भारतीय जनता पार्टी चाहती है कि केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी दिल्ली में ज्यादा से ज्यादा रैली करें। पार्टी की रणनीति से साफ है कि चुनावों में स्मृति की अहम भूमिका रहने वाली है।

युवाओं से बेहतर तालमेल

भाजपा के वरिष्ठ नेता ने कहा कि “स्मृति मोदी सरकार में सबसे युवा कैबिनेट मंत्री हैं और उनका अपना ग्लैमर है। उनका युवाओं पर बहुत प्रभाव है। उनकी भाषण शैली शानदार है और वे विपक्ष पर तीखे हमले करती हैं, जिससे जनता सहमत रहती है। उनके भाषण पार्टी कार्यकर्ताओं में जोश भर देते हैं। यही वजह है कि पार्टी चाहती है कि वे दिल्ली में ज्यादा से ज्यादा रैली करें।”

दिल्ली में ही हुई है परवरिश

पार्टी से ही जुड़े एक अन्य नेता का कहना है कि “स्मृति ईरानी दिल्ली में ही पैदा हुईं, यहीं उनकी परवरिश हुई और उन्होंने यहीं पढ़ाई की। उनके पिता पंजाबी और मां बंगाली हैं। उन्होंने चांदनी चौक इलाके से 2004 में अपना पहला लोकसभा चुनाव लड़ा था। उनके पास दिल्ली में समर्पित कार्यकर्ताओं की एक टीम भी है। इसमें कोई दो राय नहीं है कि पार्टी को उनकी रैलियों से बहुत फायदा होगा।”

राहुल गांधी को हराने के बाद बढ़ा कद

पार्टी के नेताओं का कहना है कि 4 जनवरी को जिस तरह उन्हें “मेरी दिल्ली-मेरा सुझाव” चुनाव प्रचार के लिए हरी झंडी दिखाने को आमंत्रित किया गया था, उससे ही लगता है कि दिल्ली चुनाव में उनकी विशेष भूमिका होगी।

वैसे भी 2019 के लोकसभा चुनाव में जब से स्मृति ईरानी ने राहुल गांधी को उनके पुश्तैनी निर्वाचन क्षेत्र अमेठी में हराया है, तब से पार्टी में उनका कद बढ़ा है। महाराष्ट्र और झारखंड में, हाल ही में हुए विधानसभा चुनावों में भी स्मृति ईरानी स्टार प्रचारकों में से एक थीं। कई उम्मीदवार चाहते थे कि वह उनके लिए प्रचार करें। यह भी वजह है कि भाजपा दिल्ली में उनकी लोकप्रियता को भुनाना चाहती है। भाजपा सूत्रों का कहना है कि पार्टी जल्द ही अपने स्टार प्रचारकों की सूची जारी करने जा रही है और इसमें स्मृति ईरानी प्रमुख रूप से शामिल होंगी।

About admin