Breaking News
Home / top / National Youth Day: स्वामी विवेकानंद की जयंती पर मनाया जाता है राष्ट्रीय युवा दिवस, जानें 5 बड़ी बातें

National Youth Day: स्वामी विवेकानंद की जयंती पर मनाया जाता है राष्ट्रीय युवा दिवस, जानें 5 बड़ी बातें

पूरी दुनिया को भारत की संस्कृति, सभ्यता और इतिहास से परिचय कराने वाले स्वामी विवेकानंद का आज जन्मदिन है. उन्होंने ही अमेरिका के शिकागो में आयोजित हुए विश्व धर्म सम्मेलन में हिंदू धर्म के महान विचारों को दृढ़ता से रखा था.

अपने भाषण की शुरुआत ही हिंदी में करते हुए संबोधित किया था, ‘प्रिय भाइयों और बहनों’. उनकी सोच आज भी न सिर्फ हिंदुस्तानी युवाओं बल्कि दुनिया के कई देशों में प्रेरणास्रोत हैं. यही वजह है कि देश में 12 जनवरी को ही राष्ट्रीय युवा दिवस मनाया जाता है.

स्‍वामी विवेकानंद के जीवन से जुड़ी 5 बातें
  1. स्‍वामी विवेकानंद का जन्‍म कलकत्ता के कायस्‍थ परिवार में हुआ था. उनके बचपन का नाम नरेंद्र नाथ दत्त था. उनके पिता व‍िश्‍वनाथ दत्त कलकत्ता हाईकोर्ट के वकील थे, जबकि मां भुवनेश्वरी देवी धार्मिक विचारों वाली महिला थीं.
  2. नरेंद्र नाथ दत्त 25 साल की उम्र में घर-बार छोड़कर सन्यासी बन गए थे. संन्यास लेने के बाद इनका नाम विवेकानंद पड़ा.
  3. अमेरिका में हुई धर्म संसद में जब स्‍वामी विवेकानंद ने ‘अमेरिका के भाइयों और बहनों’ के संबोधन से भाषण शुरू किया तो पूरे दो मिनट तक आर्ट इंस्टीट्यूट ऑफ शिकागो में तालियां बजती रहीं. 11 सितंबर 1893 का वो द‍िन हमेशा-हमेशा के ल‍िए इतिहास में दर्ज हो गया.
  4. स्‍वामी विवेकानंद के जन्‍म दिन यानी कि 12 जनवरी को भारत में हर साल राष्‍ट्रीय युवा द‍िवस मनाया जाता है. इसकी शुरुआत 1985 से हुई थी.
  5. स्वामी विवेकानंद को दमा और शुगर की बीमारी थी. उन्‍होंने कहा भी था, ‘ये बीमार‍ियां मुझे 40 साल भी पार नहीं करने देंगी.’ अपनी मृत्‍यु के बारे में उनकी भव‍िष्‍यवाणी सच साबित हुई और उन्‍होंने 39 बरस की बेहद कम उम्र में 4 जुलाई 1902 को बेलूर स्थित रामकृष्‍ण मठ में ध्‍यानमग्‍न अवस्‍था में महासमाध‍ि धारण कर प्राण त्‍याग द‍िए.

About admin