Breaking News
Home / top / MP विधानसभा में वास्तु दोष, काशी से पंडित बुलवाकर कराएं इलाज: BJP नेता गोपाल भार्गव

MP विधानसभा में वास्तु दोष, काशी से पंडित बुलवाकर कराएं इलाज: BJP नेता गोपाल भार्गव

मध्य प्रदेश विधानसभा में गुरुवार को दिवंगत पूर्व सदस्यों को श्रद्धांजलि दी गई. इस दौरान नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव ने अपने भाषण में विधानसभा में वास्तु दोष का मुद्दा उठा दिया. भार्गव को लगता है कि कोई अदृश्य शक्ति है जो विधायकों की जान की दुश्मन बनी हुई है.

गोपाल भार्गव ने विधानसभा में अपने भाषण में कहा की विधानसभा का ये दोष दूर करने के लिए काशी से पंडित बुलवाकर इलाज करवाना चाहिए.

1996 में अस्तित्व में आई इस मध्य प्रदेश विधानसभा में ऐसा 32वीं बार है, जब उपचुनाव की जरूरत पड़ रही है. हाल ही में जौरा विधायक बनवारी लाल शर्मा के निधन के बाद सीट खाली हुई है. गुरुवार को मध्य प्रदेश विधानसभा में दिवंगत सदस्यों के निधन पर सदन में शोक व्यक्त किया गया.

इस दौरान नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव ने कहा कि ‘उन्हें लगता है कि विधानसभा में दोष है जिसे दूर करना चाहिए. टीवी 9 भारतवर्ष से बातचीत में भार्गव ने कहा कि जब कोई समाधान नहीं दिखता तो लगता है कि कोई अदृश्य शक्ति है जिसपर विश्वास करना होगा. कई बार गृह, नक्षत्रों का योग होता है, जिसे विज्ञान भी स्वीकार करता है.’

गोपाल भार्गव ने कहा, “विधानसभा अध्यक्ष को फैसला करना है कि इसका कैसे और क्या इलाज किया जाए. विधानसभा अध्यक्ष अगर चाहें तो काशी से पंडित बुलाकर भी इलाज हो सकता है. और ये करके देखने में कोई हर्ज नहीं है. किसी भी ठेकेदार, शराब कारोबारी या रेत कारोबारी से कहकर भी पूजा पाठ कराई जा सकती है.”

इस मामले में बीएसपी विधायक रामबाई ने गोपाल भार्गव के बयान की निंदा की है. रामबाई ने कहा कि गोपाल भार्गव खुद पंडित हैं और उनका काम ही पूजा पाठ करना है. उन्हें शायद अपनी जान का ही भय लग रहा है जिसके चलते वो पूजा पाठ कराना चाहते होंगे.

सरकार के खनिज मंत्री और निर्दलीय विधायक प्रदीप जायसवाल का कहना है कि अगर किसी के मन में इस तरह की बात आई है कि दोष दूर करने के लिए अनुष्ठान कराया जाए तो इसमें कोई बुराई नहीं है. हम हिंदू संस्कृति को मानने वाले लोग हैं. धार्मिक अनुष्ठानों और हवन करने से मन की शुद्धि होती है. साथ ही अगर किसी तरह का कोई कष्ट है , तो वह भी दूर हो जाता है. मैं तो इस तरह का अनुष्ठान करने के पक्ष में हूं.

विधानसभा की उपाध्यक्ष और कांग्रेस की विधायक हिना कांवरे ने कहा कि अगर नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव चाहते हैं कि विधानसभा में कोई अनुष्ठान कराया जाए तो इसे लेकर जरूर विचार किया जाएगा. क्योंकि गोपाल भार्गव एक वरिष्ठ सदन के नेता हैं. लिहाजा उनकी बात को सभी गंभीरता से लेते हैं. वैसे भी इस तरह का अनुष्ठान कराने में किसी को आपत्ति नहीं होनी चाहिए क्योंकि इसमें किसी तरह का कोई नुकसान नहीं है.

भले ही प्रदेश और यहां के लोग अपने जीवन में काफी आगे बढ़ गए हों लेकिन अभी भी बड़ा वर्ग है तो धार्मिक अनुष्ठानों और परंपराओं से जुड़कर संतुष्ट होता है. लिहाजा मुमकिन है कि जल्दी ही विधानसभा में कोई धार्मिक अनुष्ठान कराया जाए, जिससे उस अदृश्य शक्ति से निपटा जा सके जो विधायकों की जान की दुश्मन बनी हुई है.

About admin