Breaking News
Home / top / पीएम मोदी को ‘नीच’ कहने वाले मणिशंकर अय्यर ने अब मोदी 2.0 सरकार को ‘डरपोक’ बताया

पीएम मोदी को ‘नीच’ कहने वाले मणिशंकर अय्यर ने अब मोदी 2.0 सरकार को ‘डरपोक’ बताया

नई दिल्ली:  अक्सर अपने विवादास्पद बयानों से सुर्खियों में छाने वाले वरिष्ठ कांग्रेसी नेता मणिशंकर अय्यर ने एक बार फिर मोदी 2.0 सरकार पर बड़ा हमला बोला है. जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद केंद्रीय मंत्रियों के प्रतिनिधिमंडल के केंद्र शासित प्रदेश के दौरे की आड़ में अय्यर ने अब मोदी सरकार के मंत्रियों को ‘डरपोक’ करार दिया है. गौरतलब है कि विगत दिनों मोदी सरकार के 36 मंत्रियों ने जम्मू-कश्मीर का दौरा किया था. उसी को आधार बनाते हुए अय्यर ने कहा, ‘वे (मोदी सरकार) 36 केंद्रीय मंत्रियों को जम्मू-कश्मीर भेज रहे हैं, लेकिन जरा इन कायरों को देखो! 31 मंत्री तो जम्मू गए और सिर्फ 5 ही कश्मीर गए.’

घमंडी लोग लाए मुस्लिम विरोधी कानून
केरल में एक जनसभा को संबोधित करते हुए मणिशंकर अय्यर ने कहा, ‘फिर सवाल यह भी उठता है कि वे कश्मीर में किससे बात करने गए थे? भूतपूर्व मुख्यमंत्रियों से? लेकिन ऐसा हो नहीं सका. वे सभी तो जेल में हैं. फारुक अब्दुल्ला जेल में हैं. उमर अब्दुल्ला जेल में है. महबूबा (मुफ्ती) जेल में हैं. फिर वे आखिर किससे बात करने गए थे?’ बीजेपी की लोकसभा में बहुमत गणित पर टिप्पणी करते हुए अय्यर ने आगे कहा, ‘तुरंत ही…ये घमंडी लोग. सत्ता इनके सिर चढ़ कर बोल रही है. कहने लगे कि यह एक सुनहरा अवसर है. हम इसके बाद कभी भी 303 सीटें हासिल नहीं करने वाले हैं. ऐसे में हमारे जेहन में जितने भी मुस्लिम विरोधी कानून आते हैं, उन सभी को लागू कर दिया जाए.’
गद्दार तक कह गए मोदी सरकार को
इसके बाद फिर जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 और धारा 35-ए हटाए जाने का जिक्र करते हुए अय्यर ने कहा, ‘वे एक अलग तरह का राजनीतिक वर्ग तैयार कर रहे हैं. वास्तव में नेता लोगों के बीच से उठ कर आता है. ऐसे में घाटी में बीजेपी के पास एक भी वोट नहीं है, तो वह जन सामान्य के नेता कहां से लाएगी.’ इसके बाद मणिशंकर की जबान एक बार फिर फिसल गई और वह बीजेपी को ‘गद्दार’ कह गए. उन्होंने कहा ‘हां, इस तरह के लोग गद्दार जरूर होते हैं. ऐसे ही लोग जिन्हें हम इस वक्त देख रहे हैं. फिर गद्दार तो हर समाज में होते हैं. ये वास्तव में जनप्रतिनिधि नहीं हैं. अगर वे होते, तो सालों पहले चुन लिए जाते. जम्मू-कश्मीर में हम कितने चुनाव करवा चुके हैं? इन लोगों में से कुछ लोग ऐसे थे जो चुने तो गए, लेकिन अब उन्होंने तय कर लिया है कि वे विश्वासघात करेंगे. उस मुद्दे पर जिनके सहारे वह चुनाव जीत कर आए.’

About admin