नई दिल्ली : साइकिल कंपनी एटलस के मालिकों में से एक संजय कपूर की पत्नी नताशा कपूर (57) की संदिग्ध हालात में मौत हो गई। दिल्ली पुलिस शुरुआती जांच में इसे खुदकुशी बता रही है। मगर कमरे का दरवाजा खुले की होने की वजह से पुलिस इसे संदिग्ध मानकर कई एंगल से जांच कर रही है। राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली के डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम मार्ग स्थित कोठी में उनका शव पंखे से लटका मिला। पुलिस के मुताबिक नताशा कपूर ने अपने सुसाइड नोट में लिखा कि वह अपनी जिंदगी से खुश नहीं थी। अधिकारियों का मानना है कि आर्थिक तंगी भी खुदकुशी की वजह हो सकती है। नई दिल्ली जिले की तुगलक रोड थाना पुलिस मामले की जांच कर रही है। बुधवार को नताशा कपूर का पोस्टमॉर्टम आरएमएल अस्पताल में कराया गया। पोस्टमॉर्टम के बाद नताशा कपूर के शव को परिजनों को सौंप दिया गया। बुधवार को लोधी रोड स्थित श्मशान घाट में नताशा कपूर का अंतिम संस्कार किया गया।

दिल्ली में लगातार बढ़ रहीं खुदकुशी की घटनाएं

पिछले कुछ समय से दिल्ली में खुदकुशी की घटनाओं में इजाफा देखने को मिला है। इससे पहले इसी महीने के पहले हफ्ते में दिल्ली के बुराड़ी इलाके में एक शख्स के फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली थी। दिल्ली पुलिस को शख्स का शव बुराड़ी इलाके में पंखे से लटका मिला था। पुलिस कमरे का दरवाजा तोड़कर अंदर गई थी और शव को फंदे से नीचे उतारा था। दिल्ली पुलिस ने जब कमरे को खंगालना शुरू किया, तो उसकी नजर दीवारों पर गई। दीवार पर लिखा हुआ था कि ‘जीवन का अंतिम लक्ष्य मृत्यु है।’ इसके अलावा दीवार पर यह भी लिखा मिला था- जो लोग इज्जत नहीं देते हैं, उनके साथ खड़े होने की बजाय अकेले रहना ज्यादा अच्छा है।