Breaking News
Home / top / राम मंदिर ट्रस्ट का प्रधानमंत्री मोदी ने किया ऐलान, इतने सदस्य होंगे शामिल

राम मंदिर ट्रस्ट का प्रधानमंत्री मोदी ने किया ऐलान, इतने सदस्य होंगे शामिल

नई दिल्ली : केंद्र सरकार ने बुधवार को राम मंदिर निर्माण ट्रस्ट का गठन कर दिया। संसद में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र के गठन का प्रस्ताव रखा गया। कैबिनेट की बैठक में सरकार ने यह फैसला किया है। साथ ही उन्होंने बताया कि 67.03 एकड़ जमीन ट्रस्ट को दी जाएगी। इस ट्रस्ट में 12 सदस्य होंगे। मोदी ने कहा, भगवान श्री राम की स्थिली पर भव्य राम मंदिर निर्माण के लिए ट्रस्ट पूर्ण रूप से ऑथराइज्ड होगा। बता दें कि अयोध्या मामले में शीर्ष न्यायालय ने 9 नवंबर को फैसला सुनाया था, जिसमें 3 महीने के अंदर ट्रस्ट के गठन का आदेश दिया गया था। साथ ही यह कहा था ‌कि यही ट्रस्ट राम मंदिर का निर्माण करेगा। शीर्ष न्यायालय ने अपने आदेश में मंदिर के लिए एक योजना बनाने के भी निर्देश दिए थे।

ट्रस्ट राम जन्मभूमि पर मंदिर निर्माण का उत्तरदायी होगा

प्रधानमंत्री ने कहा, अयोध्या में राम धाम के निर्माण के लिए सभी लोग एक स्वर में अपना मत दें। अयोध्या, राम जन्मभूमि से जुड़ा है और न्यायालय के फैसले के अनुसार, उसपर रामलला का अधिकार है। साथ ही उन्होंने कहा कि कैबिनेट की बैठक में एक अहम फैसला लिया गया। इस फैसले के तहत राम जन्मभूमि में मंदिर की निर्माण के लिए योजना तैयार की है। सरकार ने श्री रामजन्म भूमि तीर्थ ट्रस्ट गठन का प्रस्ताव किया है। यह ट्रस्ट अयोध्या में राम जन्मभूमि पर मंदिर निर्माण बनाने के लिए उत्तरदायी होगा।

राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र को 67 एकड़ जमीन दी जाएगी

मोदी ने कहा कि हमने 5 एकड़ जमीन सुन्नी वक्फ बोर्ड को देने के लिए अनुरोध किया था, जिसे उत्तर प्रदेश सरकार ने मान लिया है। संभावना है कि अयोध्या के पास लखनऊ हाईवे पर रौनाही के धन्नीपुर में चिह्नित 5 एकड़ भूमि वक्फ बोर्ड को दी जाए। मोदी ने लोकसभा में कहा, सभी धर्म के लोग एक हैं, परिवार के सदस्य सुखी समृद्ध हों और देश का विकास हो, इसलिए हम सबका साथ सबका विकास के मंत्र पर चल रहे हैं। साथ ही उन्होंने कहा, सरकार ने एक और फैसला किया है। राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र को करीब 67 एकड़ जमीन दिया जाएगा।

ट्रस्ट में इन्हें किया गया शामिल

शीर्ष न्यायालय के फैसले के 87 दिन बाद इसकी रूपरेखा तैयार हो चुकी है। सूत्रों के अनुसार, आदि शंकराचार्य द्वारा स्थापित चारों मठों के शंकराचार्य ट्रस्ट में शामिल हाेंगे। अयोध्या से महंत नृत्य गोपाल दास, दिगंबर अनी अखाड़े के महंत सुरेश दास, निर्मोही अखाड़े के महंत दीनेंद्र दास, गोरक्षपीठ गोरखपुर के प्रतिनिधि, कर्नाटक के उडुपी पेजावर मठ के प्रतिनिधि, विहिप से ओम प्रकाश सिंघल, उपाध्यक्ष चंपतराय, राम मंदिर आंदोलन को आमजन तक पहुंचाने वाले दिवंगत अशोक सिंघल के भतीजे सलिल, दिवंगत विष्णुहरि डालमिया के परिवार से पुनीत डालमिया, एक दलित प्रतिनिधि और एक महिला प्रतिनिधि ट्रस्ट में शामिल हाेंगी।

About admin