Breaking News
Home / top / बीजेपी, आरएसएस के डीएनए में है आरक्षण खत्म करना, हम ऐसा नहीं होने देंगे: राहुल
New Delhi: Congress President Rahul Gandhi addresses a press conference as senior party leader P Chidambaram looks on, ahead of the fifth phase of Lok Sabha polls, at AICC HQ, in New Delhi, Saturday, May 4, 2019. (PTI Photo/Manvender Vashist) (PTI5_4_2019_000038B)

बीजेपी, आरएसएस के डीएनए में है आरक्षण खत्म करना, हम ऐसा नहीं होने देंगे: राहुल

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने नियुक्तियों और पदोन्नति में आरक्षण के मुद्दे पर सुप्रीम कोर्ट के एक फैसले को लेकर सोमवार को नरेंद्र मोदी सरकार पर निशाना साधा और आरोप लगाया कि आरक्षण को खत्म करने की मंशा रखना बीजेपी एवं आरएसएस के डीएनए में है.

गांधी ने यह भी कहा कि बीजेपी और आरएसस कितना भी प्रयास कर ले, लेकिन कांग्रेस एससी, एसटी और ओबीसी के आरक्षण को खत्म नहीं होने देगी.

उन्होंने संसद परिसर में संवाददाताओं से बातचीत में आरोप लगाया, ”ये (सरकार) आरक्षण के खिलाफ है. ये किसी न किसी तरह से आरक्षण को संविधान से निकालना चाहते हैं. इनकी तरफ ऐसे प्रयास होते रहते हैं. ये चाहते हैं कि एससी-एसटी समुदाय आगे नहीं बढ़ें.”

कांग्रेस नेता ने कहा, ”अब फैसला आया कि आरक्षण मौलिक अधिकार नहीं है. यह सब उत्तराखंड की सरकार ने शीर्ष न्यायालय में कहा है. यह आरक्षण को निरस्त करने का बीजेपी का तरीका है.”

उन्होंने कहा, ”बीजेपी और आरएसएस वाले कितना भी प्रयास कर लें, लेकिन हम आरक्षण को हटने नहीं देंगे क्योंकि आरक्षण संविधान का एक तरह से प्रत्यक्ष हिस्सा है. ”

गांधी ने सरकार पर आरोप लगाया, ”संविधान पर हमला हो रहा है. लोगों को बोलने नहीं दिया जाता. ये न्यायपालिका पर दबाव बनाते हैं. संविधान के स्ंतभों को एक-एक करके तोड़ रहे हैं.”

उन्होंने दावा किया, ”बीजेपी और आरएसएस के डीएनए में है कि उनको आरक्षण चुभता है और वे इसे मिटाना चाहते हैं. मैं एससी, एसटी और ओबीसी वर्ग के लोगों से कहना चाहता हूं कि चाहे मोदी जी या मोहन भागवत सपना देखें, हम आरक्षण को मिटने नहीं देंगे.”

गौरतलब है कि सुप्रीम कोर्ट ने अपने एक फैसले में कहा है कि पदोन्न्ति में आरक्षण मौलिक अधिकार नहीं है .

About admin